परिषद् Parishad
ek kahani - Printable Version

+- परिषद् Parishad (http://devashish.info/parishad)
+-- Forum: सार्वजनिक Public (http://devashish.info/parishad/forumdisplay.php?fid=1)
+--- Forum: कला, पर्यटन, रोचक तथ्य व सूचनाएँ Arts, Travel, Interesting Facts & Information (http://devashish.info/parishad/forumdisplay.php?fid=3)
+--- Thread: ek kahani (/showthread.php?tid=54)



ek kahani - BeM - 03-13-2019

*Must read*
         ?
आंख ने पेड़ पर फल देखा .. लालसा जगी..
आंख तो फल तोड़ नही सकती इसलिए पैर गए पेड़ के पास फल तोड़ने..
पैर तो फल तोड़ नही सकते इसलिए हाथों ने फल तोड़े और मुंह ने फल खाएं और वो फल पेट में गए.
अब देखिए जिसने देखा वो गया नही, जो गया उसने तोड़ा नही, जिसने तोड़ा उसने खाया नही, जिसने खाया उसने रक्खा नहीं क्योंकि वो पेट में गया
अब जब माली ने देखा तो डंडे पड़े पीठ पर जिसकी कोई गलती नहीं थी ।
लेकिन जब डंडे पड़े पीठ पर तो आंसू आये आंख में *क्योंकि सबसे पहले फल देखा था आंख ने*
*अब यही है कर्म का सिद्धान्त*