परिषद् Parishad
ek seekh - Printable Version

+- परिषद् Parishad (http://devashish.info/parishad)
+-- Forum: सार्वजनिक Public (http://devashish.info/parishad/forumdisplay.php?fid=1)
+--- Forum: कला, पर्यटन, रोचक तथ्य व सूचनाएँ Arts, Travel, Interesting Facts & Information (http://devashish.info/parishad/forumdisplay.php?fid=3)
+--- Thread: ek seekh (/showthread.php?tid=56)



ek seekh - BeM - 03-30-2019

दुनिया में सिकंदर कोई नहीं वक्त सिकंदर होता है हॉलीवुड के एक्शन हीरो और विश्वविख्यात बॉडी बिल्डर एथलीट रहे अर्नोल्ड श्वार्ज़नेगर  ने एक फोटो पोस्ट की है -अपनी मूर्ति के नीचे सोते हुए, जो उस होटल में लगी है जिसका फीता उन्होंने कैलिफोर्निया के गवर्नर रहते काटा था।  होटल ने उनकी मूर्ति लगाते हुए उन्हें आजीवन होटल मे रूम फ्री में देने की घोषणा की थी। रिटायर होने के बाद एक दिन होटल में रूम मांगने पर होटल ने बुकिंग फुल है कह मना कर दिया।   अपनी ही मूर्ति के पास सोये और लिखा -   "पद और रसूख जाने के बाद दुनिया आपके लिए एक आम आदमी की तरह है" या फिर कहूं "सम्मान हमेशा समय और स्थिति  का होता है पर इंसान उसे अपना समझ लेता है"  इससे सीखो और  जियो और कभी भी पद का अहंकार मत करो क्योंकि जिस दिन पद और कुर्सी गई उस दिन आप महज एक जनता की भीड़ के मानव मात्र।