Thread Rating:
  • 0 Vote(s) - 0 Average
  • 1
  • 2
  • 3
  • 4
  • 5
[-]
प्रायोजक Sponsors

sunder prasang
#1
*?? सुंदर प्रसंग !!*

एक कुम्हार माटी से *चिलम* बनाने जा रहा था..। उसने *चिलम का आकार* दिया..। थोड़ी देर में उसने *चिलम को बिगाड़ दिया...l*
*माटी* ने पूछा -: अरे कुम्हार, तुमने *चिलम अच्छी बनाई फिर बिगाड़ क्यों दिया.?*
*कुम्हार* ने कहा कि -: अरी माटी, पहले मैं *चिलम बनाने की सोच रहा था,* किन्तु मेरी *मति (दिमाग) बदली* और अब मैं *सुराही बनाऊंगा,,,।*
ये सुनकर *माटी* बोली -: रे कुम्हार, *मुझे खुशी* है, *तेरी तो सिर्फ मति ही बदली, मेरी तो जिंदगी ही बदल गयी.l*
चिलम बनती तो *स्वयं भी जलती* और *दूसरों को भी जलाती*, अब *सुराही बनूँगी* तो स्वयं भी *शीतल* रहूंगी और दूसरों को भी *शीतल रखूंगी...l*
*?"यदि जीवन में हम सभी सही फैसला लें तो हम स्वयं भी खुश रहेंगे एवं दूसरों को भी खुशियाँ दे सकेंगे..!!
Reply


Forum Jump:


Users browsing this thread: 1 Guest(s)
[-]
नूतन सामग्री Recent Stuff
On Ramanuj birthday
Last Post: BeM
11-08-2017 09:48 PM
» Replies: 0
» Views: 141
prerak prasang
Last Post: BeM
10-31-2017 08:30 PM
» Replies: 0
» Views: 56
sakaratmak soch
Last Post: BeM
10-28-2017 10:38 PM
» Replies: 0
» Views: 36
vanddmatram
Last Post: BeM
10-24-2017 08:12 AM
» Replies: 0
» Views: 535
vishesh jankariyan
Last Post: BeM
10-18-2017 05:44 PM
» Replies: 0
» Views: 234
upyogi bate
Last Post: BeM
10-15-2017 09:52 AM
» Replies: 0
» Views: 146
Hindi ek vagyanik bhasha
Last Post: BeM
10-15-2017 09:44 AM
» Replies: 0
» Views: 71